शुक्रवार, 16 अक्तूबर 2015

पार्थवी के स्कूल में हुआ साइंस ड्रामा Science Drama competition at Parthvi's School

राष्ट्रीय विज्ञान नाटक प्रतियोगिता का हुआ आयोजन
मुकंद लाल पब्लिक स्कूल के नाटक ‘अथ शापित कथा’ का चयन राज्य स्तर के लिए हुआ  
आज स्थानीय मुकुंद लाल पब्लिक स्कूल सरोजिनी कालोनी मे राष्ट्रीय विज्ञान नाटक प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। इस आयोजन में जिला से चार विद्यालयों के चालीस विद्यार्थियों ने भाग लिया और अपने विज्ञान नाटकों का मंचन किया। एस डी माडल स्कूल जगाधरी की टीम ने डाक्टर ए पी जे अब्दुल कलाम के जीवन को नाटक के माध्यम से मंचित किया।
मुकंद लाल पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों ने अपने नाटक ‘अथ शापित कथा’ के द्वारा भगवान विष्णु, नारद मुनि और मृत्यु लोक के मानवो के बीच, पृथ्वी पर बढ़ रहे प्रदूषण व ऊर्जा संकट पर संवादों का जीवंत प्रदर्शन किया। 
विष्णु लोक मे मनुष्यों के क्रियाकलापों के प्रति चिंता को व्यक्त किया गया और साथ ही विष्णु भगवान की माया से मनुष्यों को अपनी समस्या से खुद ही लड़ते देख कर खुशी से नारद जी भी नारायण नारायण कह उठे। भगवान विष्णु ने भी गदगद होकर कह ही दिया की मनुष्य इतना सक्षम हो चुका है की अब वो खुद ही अपना संहारक और खुद ही अपना रक्षक बन गया है।
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर के विद्यार्थियों ने अपने नाटक ‘नशा नाश की जड़’ के माध्यम से एक परिवार की कहानी को मंचित किया जिस में उन्होंने दिखाया की किस तरह नशे की लत में उस घर के मुखिया से अपराध हो जाता है वो उसको जेल जाना पड़ता है और वापसी पर वह पाता है की उसका सब कुछ तबाह हो गया है तो वो समाज को नशा करने से रोकने की मुहीम चलाता है।
विवेकानन्द पब्लिक स्कूल हुडा सेक्टर सत्रह जगाधरी के बच्चों ने ‘चंदू की सगाई’ नाटक के द्वारा एक का गाँव चित्रण किया जिस में कूड़ा अधिक होने और गाँव साफ़ सुथरा ना होने के कारण वहां के लड़कों की सगाईयाँ और शादियाँ टूट जाती हैं और कोई भी अपनी लडकी को उस गाँव में नहीं ब्याहना चाहता है।
इस प्रतियोगिता में उपस्थित प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए विद्यालय की प्रधानाचार्या शशि बाठला ने कहा कि नाटक वास्तव में हमारे आसपास का वो जीवन है जिसे हम अभिनय और संवादों के द्वारा खुद जीकर देखते हैं और उनसे खुद प्रेरित होते हैं व समाज को भी अपना प्रेरणा सन्देश पहुंचाते हैं।
जिला विज्ञान विशेषज्ञ डाक्टर विजय त्यागी ने अपने संबोधन में कहा कि विज्ञान नाटक समाज की उन गम्भीर समस्याओं को उठाते हैं 
जिन के बारे में सामन्यतया हर आदमी को नहीं पता होता है और वो उन समस्याओं को दैनिक क्रियाकलाप समझ कर उनकी हानियों को झेलता रहता है।
इस विज्ञान नाटक प्रतियोगिता में मुकन्दलाल पब्लिक स्कूल के नाटक को प्रथम  स्थान मिला। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर के नाटक को द्वितीय स्थान प्राप्त हुआ। विवेकानन्द पब्लिक स्कूल हुडा सेक्टर सत्रह जगाधरी को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। 
मुकन्दलाल पब्लिक स्कूल के नाटक ‘अथ शापित कथा’ को अगले महीने राज्य स्तर पर भाग लेने के लिए गुडगाँव भेजा जाएगा।
विज्ञान नाटक प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में अजय धीमान प्रवक्ता भौतिकी व उमेश खरबंदा प्रवक्ता रसायन ने भूमिका अदा की जबकि मौके पर गौरव पराशर, ममता वर्मा, दर्शन लाल बवेजा, सुबुही सहगल, धर्मेन्द्र सिंह भी उपस्थित रहे।