शुक्रवार, 30 दिसंबर 2011

पार्थवी अक्टूबर के बाद Parthvi's activities after October

पार्थवी अक्टूबर के बाद Parthvi's activities after October  
पार्थवी दशहरे के बाद ब्लॉग से गायब ही हो गयी थी तो आज सब जाने वो कहाँ थी.तो आओ जी जाने कहाँ गयी थी पार्थवी.
दिवाली की धूम 
दिवाली की धूम 
 शादी में डांस 
पार्थवी, अंशवी और अर्श 
 पठाके नहीं चलाये बस देखे
अनार 
 दोस्तों ने गिफ्ट दिए
आरुशी 
 डेरा गुरुद्वारा श्री श्री चंद साहिब
जय हो बाबा जी दी 
 मैन हूँ डान
हा हा मैन हूँ ....
 सर्दी तो है आज पर फन सिटी भी तो जाना है झूले ही झूले
राउंड राउंड डक 
 सबसे उपर वाले में मैन हूँ हा हा हा ....
ये झूला अच्छा है सब से उपर 
 राउंड राउंड बाईक दर्र दर्र दर्र........
मेरी बाईक 
 अब या तो चलो नाथूस में या चलो बिकानो में या सागर रत्ना में भूख लग गयी है .....
शाही  कचोरी यम यम
ठण्ड लग गयी डाक्टर अंकल ने वहीं रख लिया हस्पताल में तीन दिन  उआं उआं 
सीधी नहीं हो रही सारी 
 अब मैं ठीक हूँ चलो घर ........

ये हाथ में से इंजेक्शन कब निकलेगा 
 दो महीने के लिए मिल गयी नयी सौगात इन्हेलर ........
दिन में दो बार यदि ठीक होना है ....