शुक्रवार, 30 दिसंबर 2011

पार्थवी अक्टूबर के बाद Parthvi's activities after October

पार्थवी अक्टूबर के बाद Parthvi's activities after October  
पार्थवी दशहरे के बाद ब्लॉग से गायब ही हो गयी थी तो आज सब जाने वो कहाँ थी.तो आओ जी जाने कहाँ गयी थी पार्थवी.
दिवाली की धूम 
दिवाली की धूम 
 शादी में डांस 
पार्थवी, अंशवी और अर्श 
 पठाके नहीं चलाये बस देखे
अनार 
 दोस्तों ने गिफ्ट दिए
आरुशी 
 डेरा गुरुद्वारा श्री श्री चंद साहिब
जय हो बाबा जी दी 
 मैन हूँ डान
हा हा मैन हूँ ....
 सर्दी तो है आज पर फन सिटी भी तो जाना है झूले ही झूले
राउंड राउंड डक 
 सबसे उपर वाले में मैन हूँ हा हा हा ....
ये झूला अच्छा है सब से उपर 
 राउंड राउंड बाईक दर्र दर्र दर्र........
मेरी बाईक 
 अब या तो चलो नाथूस में या चलो बिकानो में या सागर रत्ना में भूख लग गयी है .....
शाही  कचोरी यम यम
ठण्ड लग गयी डाक्टर अंकल ने वहीं रख लिया हस्पताल में तीन दिन  उआं उआं 
सीधी नहीं हो रही सारी 
 अब मैं ठीक हूँ चलो घर ........

ये हाथ में से इंजेक्शन कब निकलेगा 
 दो महीने के लिए मिल गयी नयी सौगात इन्हेलर ........
दिन में दो बार यदि ठीक होना है ....

3 टिप्‍पणियां:

Sawai Singh Rajpurohit ने कहा…

आप को सपरिवार नव वर्ष 2012 की ढेरों शुभकामनाएं.

इस रिश्ते को यूँ ही बनाए रखना,
दिल मे यादो क चिराग जलाए रखना,
बहुत प्यारा सफ़र रहा 2011 का,
अपना साथ 2012 मे भी इस तहरे बनाए रखना,
!! नया साल मुबारक !!

आप को सुगना फाऊंडेशन मेघलासिया, आज का आगरा और एक्टिवे लाइफ, एक ब्लॉग सबका ब्लॉग परिवार की तरफ से नया साल मुबारक हो ॥


सादर
आपका सवाई सिंह राजपुरोहित
एक ब्लॉग सबका

आज का आगरा

veerubhai ने कहा…

आपके पार्थवी ब्लॉग पर टिपण्णी नहीं खुली .ठंड और बदलते मौसम (तापमान परिवर्तन ,आद्रता परिवर्तन )से बचाए रहें पार्थवी को .बच्चों में दमा की शिकायत बढ़ रही है .सावधानी की ज़रुरत है .

veerubhai ने कहा…

आपके पार्थवी ब्लॉग पर टिपण्णी नहीं खुली .ठंड और बदलते मौसम (तापमान परिवर्तन ,आद्रता परिवर्तन )से बचाए रहें पार्थवी को .बच्चों में दमा की शिकायत बढ़ रही है .सावधानी की ज़रुरत है .आधा घंटा झख मारने के बाद टिपण्णी विंडो खुली है .चिंता है वैसो -डायलेटर पर बच्चों को आज ज़रुरत पड़ रही है .बअवधानी बरतें धूल धुयें से बारूद के धुएं से बच्चे को बचाएं .