सोमवार, 14 जून 2010

मेरे बचपन की पहेलियाँ

मेरे बचपन की पहेलियाँ
एक आदमी घर से कुछ धन (रूपये पैसे ) ले कर चला वह 4 मंदिरों में जाता है
पहले मंदिर में प्रवेश करते ही उस का धन दोगुना हो जाता है तो वह 100 रूपए मंदिर में चढ़ा देता है
दुसरे मंदिर में प्रवेश करते ही उस का शेष धन फिर दोगुना हो जाता है तो वह 100रूपए दुसरे मंदिर में चढ़ा देता है
तीसरे मंदिर में प्रवेश करते ही उस का शेष धन फिर दोगुना हो जाता है तो वह 100 रूपए तीसरे मंदिर में चढ़ा देता है
चौथे मंदिर में प्रवेश करते ही उस का शेष धन फिर दोगुना हो जाता है तो वह 100 रूपए चौथे मंदिर में चढ़ा देता है
और खाली हाथ हो जाता है
तो जनाब अब आप बताये वह घर से कितना धन ले कर चला था ???????

नोट :-गणितीय पहेलिया दिमाग तेज़ करती है |

6 टिप्‍पणियां:

रंजन ने कहा…

93.75

पुरी गणित लगानी पड़ी कक्षा ७ की..:)

Indu Arora ने कहा…

एक दम सही जवाब
ऐसा उत्तर गणित लगाने से ही निकल सकता है
धन्यवाद

नवीन त्यागी ने कहा…

agar maine sahi jawab bhi diya to sab yahi kahenge ki ranjan ji ki nakal maari hai.

सर्प संसार ने कहा…

मुझे भी अपना बचपन याद आ गया।
---------
क्या आप बता सकते हैं कि इंसान और साँप में कौन ज़्यादा ज़हरीला होता है?
अगर हाँ, तो फिर चले आइए रहस्य और रोमाँच से भरी एक नवीन दुनिया में आपका स्वागत है।

भूतनाथ ने कहा…

dhatt tere ki ham bhi 93.75 nikaal kar tippani karne lage magar yahaan to sala pahale se hi hamse samajhdaar koi janaab javaab dekar hamko pichhe chod chukaa thaa.....!!!

Rajneesh SSS ने कहा…

93.625